टहलते हुए आइए, सोचते हुए जाइए.

Thursday, May 28, 2009

एक स्त्री को क्या चाहिए?

एक नवयुवक राजा को उसके पडोसी देश के राजा ने बंदी बना लिया था. राजा ने उसके खिलाफ मुकदमा चलाया और नवयुवक राजा को मृत्युदंड की सज़ा सुना दी. मगर नवयुवक राजा की उम्र देख कर पडोसी देश के राजा को भी दया आ गई. उसने नवयुवक राजा से कहा- "हम तुम्हें एक शर्त पर जीवन दान दे सकते हैं, अगर तुम मुझे मेरे एक प्रश्न का जवाब दे सको'. नवयुवक राजा को जीवन दान मिल रहा था. इससे बढ़ कर उसे और क्या चाहिए? उसने तुंरत कहा कि वह उत्तर देने के लिए तैयार है. पडोसी देश के राजा ने उसे कहा कि वह इस प्रश्न के जवाब के लिए उसे एक साल का समय देता है. अगर उसने वह जवाब दे दिया तो उसे आजाद कर दिया जाएगा, वरना उसे मौत के मुंह में सुला दिया जाएगा.
नवयुवक राजा को थोड़ी उत्सुकता हुई कि ऐसा कौन सा सवाल है, जिसके लिए उसे एक साल की मोहलत दी जा रही ही? राजा ने उसे प्रश्न सुनाया- "एक स्त्री क्या चाहती है?" सुनने में यह सवाल बड़ा सीधा-सादा सा था. मगर इसके लिए एक साल की मोहलत ही यह बता रही थी यह सवाल उतना सीधा नहीं है. फिर भी इस सवाल के मार्फ़त से नवयुवक राजा को जीवन दान मिल रहा था, इसलिए उसने इस चुनौती को स्वीकार कर लिया. राजा ने नवयुवक राजा को उसके घर भेज दिया और कहा कि हालांकि वह अपने घर पर रहेगा, लेकिन वह उसकी निगरानी में है, वह यह याद रखे."
दिन पर दिन बीतते गए,. नवयुवक राजा सभी से इस सवाल का जवाब पूछता रहा, मगर उसे कोई भी संतोषजनक
उत्तर नही मिला. अब वह परेशान होने लगा. उसे लगने लगा कि अगर वह इस सवाल का जवाब नहीं दे पाया तो उसका मरना तय है. उसे किसी ने सलाह दी कि नगर के बाहर एक चुडैल रहती है. वही इस सवाल का सही जवाब दे सकती है. लेकिन उसके पास जाना इतना आसान नहीं है. वह पहले तो किसी की बात नहीं सुनती, फिर सुनती भी है तो इसके लिए वह मनमानी फीस वसूलती है और उसकी फीस में पैसे से लेकर किसी की जान लेना तक शामिल है.
नवयुवक राजा ने तय किया था कि वह उसके पास नही जाएगा. लेकिन तेजी से ख़त्म होती जा रही मियाद ने उसे मज़बूर कर दिया उसके पास जाने के लिए. चुडैल ने बड़ी मुश्किल से उसकी बात सुनी. फिर उसने सवाल के जवाब के लिए अपनी शर्त रखी. उसने कहा कि वह उसके लेखक मित्र से शादी करना चाहती है. नवयुवक राजा के यह सुनकर होश उड़ गए. वह लेखक राजा का बहुत अच्छा मित्र था और बहुत ही ग्यानी औए विद्वान था. उसकी शोहरत पूरे देश में थी. उस सीधे-सादे, छल-कपट से रहित व्यक्ति की शादी इस चुडैल से करवा देना, वह भी अपनी जान की खातिर, यह उसे मन न भाया. और वह चुपचाप वहां से चला आया.
मित्र को जब इस बात का पता चला, तब उसने कहा कि वह उस चुडैल से शादी करने के लिए तैयार है, अगर ऐसा करने से उसके प्रिय मित्र की जान बच जाती है. नवयुवक राजा बड़ी मुश्किल से इस बात के लिए तैयार हुआ.
लेखक मित्र की शादी उस चुडैल से हो गई. उस चुडैल ने अब नवयुवक राजा को उसके सवाल का जवाब दिया, जो इस प्रकार है - "स्त्री अपनी जिंदगी की नियामक या निर्णायक खुद ही हो."
साल भर का समय समाप्त हो गया था. नवयुवक राजा ने पडोसी देश के राजा को अपना उत्तर सुनाया. राजा बहुत खुश हुआ और उसे उसने अपनी कैद से आज़ाद करके उसे जीवन दान दे दिया.
इधर लेखक मित्र अपनी सुहाग रात के लिए अपने कमरे में गया. उसका दिल बहुत बुरी तरह से धडक रहा था. वह समझ नही पा रहा था कि आज उसके साथ क्या होनेवाला है? एक चुडैल के साथ सुहाग रात? परन्तु जब वह कमरे में गया तब वह यह देख कर दंग रह गया कि वहा एक अत्यनत ख़ूबसूरत लड़की सुहाग सेज पर बैठी हुई है. लड़की ने बताया कि उसके साथ शादी करने से अब उसके पास दो तरह की ताक़त आ गई है.- १ वह आधे समय तक ख़ूबसूरत और आधे समय तक बदसूरत रह सकती है. २. वह सारे समय बदसूरत रह सकती है. वह यह तय करे कि क्या वह दिन में ख़ूबसूरत रहे और सभी को प्रसन्न रखे या रात में ख़ूबसूरत रहकर उसकी रातें खुशनुमा बनाए.
मित्र की समझ में कुछ भी नही आया. उसने नवयुवक राजा मित्र से इस बाबत पूछा. अबतक नवयुवक राजा अपने पडोसी देश के राजा के सवाल का मर्म अच्छी तरह समझ गया था. उसने मित्र को सलाह दी कि यह निर्णय तुम उसी पर छोड़ दो. मित्र ने ऐसा ही किया. उसकी पत्नी ने जवाब दिया कि आधा समय बदसूरत रहकर वह उस समय अपने संपर्क में आये लोगों का कुछ भी भला नहीं कर पायेगी, रात में भी बदसूरत रह कर वह उसे दुखी करेगी. इसलिए वह यह फैसला लेती है कि वह सारे समय ख़ूबसूरत बनी रहेगी.

6 comments:

Udan Tashtari said...

"एक स्त्री क्या चाहती है?" -जैसे गुढ़ रहस्य पर से परदा हटाने की तो कोशिश को भी नमन करता हूँ.

Sachi said...

Different women may have different answers and even every response from the male blogguers would be the different, but in any case, after reading your answer, a female needs stability and secure future. Rest are useless things.

Nice story!
Normal I post my comments in english, but I know hindi very well. For me writing in hindi on net is very boring. So I think you understand my situation..

अनिल कान्त : said...

bahut bada parda uthaya hai ji
bhai maan gaye

AlbelaKhatri.com said...

atyant komal aur bareek taar par aapne apne virat hastakshar ankit kar diye hain....
HARDIK BADHAI

Desh Premi said...

महिलाएं क्या चाहती हैं इश्क जवाब वाकई बहुत सुंदर है...
लेकिन क्या कोई ये बताएगा की हमारे यहाँ की " एक महिला " क्या चाहती है...

राष्ट्रहित के लिए आइये आपका स्वागत है
http://rashtravad.blogspot.com/
आपने सुझाओं और संवेदनाओं से हमें अनुग्रहित करे।

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ said...

माफी चाहूँगा, आज आपकी रचना पर कोई कमेन्ट नहीं, सिर्फ एक निवेदन करने आया हूँ. आशा है, हालात को समझेंगे. ब्लागिंग को बचाने के लिए कृपया इस मुहिम में सहयोग दें.
क्या ब्लागिंग को बचाने के लिए कानून का सहारा लेना होगा?